चूड़ेलो का घर ghost story hindi haunted stories भूत प्रेत की कहानी चूड़ेल chudel ki saya Bhoot pret real kahani.

 

चूड़ेलो का घर ghost story hindi haunted stories भूत प्रेत की कहानी चूड़ेल
मेरे दोस्त का नाम धर्मेंद्र है और वो गुजरात केरहने मेहसाणा जिले का रहने वाला है और उसकी सदी के दो साल ही हुए है और जब हु एक दिन अपनी पत्नी को लेने के लिए ससुराल गया था और जब वो बाइक से वापीश अपने घर आ रहे थे तब रास्तेमे उसकी पत्नी को कुछ थकान के कारण थोड़ी देर के लिए रुके और जब वो वापीश जाने लगे तो उसकी पत्नी के सदी जड़ियो में अटैक गयी और थोड़ी सी फट गयी और उनके पास केले नही थे जो बेच सड़क पे घिर गए फिर हु दोनों सैम को अपने घर लौट आये.

जब रत के ११ बजे होंगे तभी मेरे दोस्त की पत्नी अपने घर का सारा काम पूरा किया होगा और अचानक से रोने लगी और अपने सरे कपडे निकाल ने लगी तभी मेरा दोस्त ने अपनी पत्नी को धमकाने लगा तो उनकी पत्नी की आँखे लाल और डरावनी हो गयी थी और जैसे ही मेरा दोस्त हाथ लगता तो बोलने लगी मुझे मत सुओ तुम मुझे टच भी नहीं कर सकते क्यों की मेरा पति ही मुझे सु सकता है तभी मेरे दोस्त को पता चला की मेरी पत्नी के सरीर में कोई चुड़ैल की आत्मा है

तभी मेरे दोस्त ने औरो को परेशानी है हो इस लिए उसने अपने घर के सरे खिड़की दरवाजे बंद कर दिए और मेरा दोस्त उसे पहले तो दो थापड़ लगा दिया तो तभी हु चुड़ैल घुसे में आ गयी और हवा में उड़ने लगी औरतो और साडी चीजे हवा में उड़ने लगी कुर्सी बेड्स बर्तन तभी मेरा दोस्त गबरा गया और पानी पानी हो गया तो उसने अब दो हाथ जोड़ने लगा और रोने लगा की मुझे माफ़ करदो फिर हु चुड़ैल से बोलने लगा की तुम्हे क्या चहिये तो मुस्कुरायी और कहा की मुझे कुछ नहीं चहिये तो मेरे दोस्त ने बोला की तो फिर तुम यहाँ क्यों आयी हो तुम चली जाओ तो चुड़ैल बोलने लगी की तुम्हारी पत्नी ने जहा पे तुम बेच रास्तेमे रुके थे और तुम्हारी पत्नीपहने thi बोली की अब चलो तो मई भी साथ में चलने लगी और तुम्हारी पत्नी ने बहोत सरे गहने और लाल साड़ी पहनी थी और साथ में खाना भी था इसी लिए मई तुम्ही पत्नी के साथ आयी हु…. मेरा दोस्त बोलने लगा कोई बात नही तुम कहो तो यहाँ रह सकती हो लेकिन मुझे कोई नुकशान नहीं पहोचाऊंगी तो चुड़ैल बोलने लगी तुम धर्मेंद्र मेरे दोस्त हो तो धर्मेंद्र कहने लगा की आज से हम दोसो फ्रेंड्स तो हु चुड़ैल खुस हो गयी और चुड़ैल ने अपनी कहानी सुनाने लगी हु बोल लगी की मैं और मेरा घर वाला जब मैं २० साल की थी तभी मैं और मेरा पति का नाम रामु है और उसके साथ मैं भी भाग सदी कीथी और हम दोनों बहोत खुस थे लेकिन एक दिन एक मोटर कार वाला निकला और तभी मेरे पति मेरे पास सो रहे थे तभी हु कर वाला मेरे पति के पैर पे गाड़ी का पैया चढ़ा दिया और मेरे पति वही पे मर गए और हु देख के मैं भी मर गयी और उसी दिन से हम दो नो प्रेत योनि में भटक रहे है

तभी मेरा दोस्त ने कहा की तुम वह पे कौन कौन रहते हो तो चुड़ैल बोलने लगी वह पे २ बूढी अमा और १ बचा भी रहता है जो मेरे साथ खेल ने अत है और मेरे पति जब गुमके मेरे पास अत है तो हु चला जाता है

मेरे दोस्त ने कहा की तुम क्या खाते हो तो चुड़ैल ने कहा की कोई भी आने जाने वाला का सामान निचे घिर जाता है तो हु हम उनसे तृप्त हो जाते है और हम गम ने भी जाते है किसी की भी गाड़ी या बाइक हॉट तो बैठ जाते है और फिर वापिसः भी किसी की भी गाड़ी में बैठ के आ जाते है

मेरे दोस्त ने कहा की तुम ये बता ओ की मेरे पाप घर से भाग गए है अभी कहा है तो चुड़ैल बोली की तुम्हारे पाप अभी एक ऑफिस में है और ब्लू कलर के कपडे पहने है तो मेरे दोस्त ने तुरंत उसके पाप को कॉल किया तो सही में वही कपडे पहने थे और ऑफिस में काम कर रहे थे मेरा दोस्त चोक गया और चुड़ैल के सामने खूब हँसने लगा और अब उसे दर नहीं लगा रहा था और अब रत के २ बज गए थे और चुड़ैल अपने पति के बुलाने के  भी मैसेज आ रहे थे ओ हु चुड़ैल बोलने लगी की अब मुझे जाना होगा तो मेरे दोस्त ने कहा की तुम कैसे जाएंगी अपने जग पे तो चुड़ैल बोलो की मुझे बहार तक षोड़ने आ जाओ और वह से मैं चलि जाती हूं

 

चूड़ेलो का घर ghost story hindi haunted stories भूत प्रेत की कहानी चूड़ेल

 

तो मेरा दोस्त चुड़ैल को अपनी पत्नी के सात चलने लगा और जैसे है घर के बहार गेट पे पाउच है होगा की उसकी पत्नी बेहोस हो गयी और हु चुड़ैल वह से चलि गयी फिर मेरा दोस्त उसकी पत्नी को घरमे ले आया और जब हु थोडी देर बाद होस में आयी तो उसे कुछ भी पता नहीं था

तो दौस्तो  ये चुड़ैल की साया कैसे हमारे शरीर घुसती है और हमारे या उनके काम करने लगती है तो दौस्तो ये चुड़ैल की कहानी मेरे दोस्त ने मुझे सुनाई थी जो बिलकुल सच है। आपको ये कहानी कैसी लगी Comments के माध्यम से जरूर बताए। धन्यवाद

1 thought on “चूड़ेल chudel ki saya Bhoot pret real ghost Stories hindi kahani”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *